• anmol jeevan thubnail

कॉलेजों में अब पर्सेंटेज के आधार पर मिलेगा एडमिशन:जल्द जारी होगी नई पॉलिसी

जयपुर (हमारा वतन) राजस्थान में उच्च शिक्षा विभाग ने CBSE स्टूडेंट्स को बड़ी राहत दी है। उच्च शिक्षा विभाग द्वारा लगातार तीसरे साल कॉलेज में स्टूडेंट्स को पर्सेंटेज के आधार पर एडमिशन दिया जाएगा। ऐसे में CBSE बोर्ड का रिजल्ट जारी होने के साथ ही प्रदेश के 450 से ज्यादा सरकारी कॉलेज में 5 लाख से ज्यादा सीटों पर एडमिशन की प्रक्रिया भी शुरू हो जाएगी। वहीं अगले सप्ताह शिक्षा विभाग की नई एडमिशन पॉलिसी जारी की जाएगी।

दरअसल, पहले पर्सेंटेज सिस्टम को हटाकर पर्सेंटाइल सिस्टम लागू किया गया था। इसके तहत CBSE और RBSE बोर्ड के स्टूडेंट्स की पर्सेंटेज का समानीकरण कर उन्हें एडमिशन दिया जाता था। इसके बाद कोरोना काल के दौरान पॉलिसी चेंज करके स्टूडेंट्स को पर्सेंटेज के आधार पर ही एडमिशन दिया गया। इसी पॉलिसी को अब सरकार आगे बरकरार रखेगी और पर्सेंटेज के आधार पर ही एडमिशन देने का फैसला किया है।

उच्च शिक्षा मंत्री राजेंद्र यादव ने बताया कि पर्सेंटाइल सिस्टम के लागू होने के बाद से ही स्टूडेंट्स को इसका काफी नुकसान हो रहा था। इस फार्मूला से CBSE के स्टूडेंट्स को प्रदेश के कॉलेजों में एडमिशन नहीं मिल पा रहा था। जिससे छात्रों में असमानता का भाव पैदा हो गया था। ऐसे में छात्रों की मांग के अनुरूप प्रदेश में इस बार भी पर्सेंटेज के आधार पर यूनिवर्सिटी में एडमिशन दिया जाएगा।

13 लाख से ज्यादा स्टूडेंट्स को मिलेगा एडमिशन :-
राजस्थान में 450 से ज्यादा सरकारी कॉलेज है। इनमें पांच लाख 8000 स्टूडेंट्स को पर्सेंटेज के आधार एडमिशन दिया जाएगा। वहीं, 2000 से ज्यादा प्राइवेट कॉलेज है, जिनमें 8 लाख स्टूडेंट्स को शिक्षा विभाग की एडमिशन पॉलिसी के आधार पर एडमिशन मिलेगा।

राजस्थान यूनिवर्सिटी में 7 हजार सीटें :-
राजस्थान यूनिवर्सिटी के चाराें संघटक कॉलेजों में बीए, बीकॉम, बीएससी, बीबीए, बीसीए के अलावा विभागों में सर्टिफिकेट, डिप्लोमा मिलाकर 7 हजार सीटें हैं। पिछले 2 साल से कोरोना की वजह से सीटों में बढ़ोतरी नहीं हुई है। ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है की इस बार डिमांड और आवेदनों के आधार पर बाद में करीब 10% सीटें इस बार बढ़ सकती है।

जून में ही शुरू होगी एडमिशन की प्रक्रिया :-
आयुक्त कॉलेज शिक्षा विभाग शुचि त्यागी ने बताया कि कॉलेज में एडमिशन के लिए हमने नई पॉलिसी तैयार कर ली है। इसे जल्द ही जारी कर दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि हमने 12th RBSE रिजल्ट आने के साथ ही कॉलेज स्तर एडमिशन की तैयारियां शुरू कर दी थी। ऐसे अगर सब कुछ ठीक रहा, तो हम इसी महीने से ही कॉलेज में एडमिशन के लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू कर देगे।

क्या होता है पर्सेंटाइल :- 
मान लो एक परीक्षा में 2 लोगों ने भाग लिया, अगर परीक्षा 100 नंबर की है। और उसमें से पहले के 50 नंबर आए और दूसरे व्यक्ति के 25 नंबर आए तो पर्सेंट के अनुसार पहले के 50% और दूसरे के 25% नंबर होंगे। लेकिन, पर्सेंटाइल निकालने के लिए जिसके सबसे ज्यादा नंबर हैं, उस स्टूडेंट के 100 पर्सेंटाइल मान लिया जाता है। इसी आधार पर बाकियों का पर्सेंटाइल निकाला जाता है। ऐसे में 25 नंबर वाले छात्र का पर्सेंटाइल 50 हो गया, जबकि पर्सेंट के हिसाब से सिर्फ 25 ही बने।

पर्सेंटाइल फार्मूला लागू होने का सबसे ज्यादा फायदा राजस्थान में RBSE स्टूडेंट्स को मिला। क्योंकि, CBSE स्टूडेंट्स की पर्सेंटेज ज्यादा होने के बाद भी पर्सेंटाइल फार्मूला लागू करने के बाद उन्हें एडमिशन नहीं मिलता था। वहीं, RBSE स्टूडेंट्स की पर्सेंटेज कम होने के बाद भी उन्हें एडमिशन मिल रहा था।

रिपोर्ट – राम गोपाल सैनी 

जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

विडियो देखने के लिए –  https://www.youtube.com/channel/UCyLYDgEx77MdDrdM8-vq76A

अपने आसपास की खबरों , लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें – 9214996258, 7014468512,9929701157.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *