• anmol jeevan thubnail

आंसू रोकना सेहत के लिए हो सकता है खतरनाक, जानें शरीर को होते हैं क्या नुकसान

नई दिल्ली (हमारा वतन) कहते हैं व्यक्ति की आंखें उसके दिल का हाल बयां कर देती हैं। ऐसे में सुख हो या दुख, दोनों का पता आंखों से निकलने वाले आंसुओं के पास मिलता है। जी हां, जीवन में कई उतार-चढ़ाव आते हैं। व्यक्ति कभी खुशी से मुस्कुराता है तो कभी दुख को आंखों से निकलने वाले आंसुओं के साथ बाहर निकाल देता है। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो खुद को दूसरों के सामने मजबूत दिखाने के लिए अपने दर्द को छिपाने की कोशिश करते हैं और अपने आंसुओं को निकलने से रोक देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं ऐसा करने वाले लोग जाने-अनजाने अपनी सेहत को कितना नुकसान पहुंचा रहे होते हैं। आइए जानते हैं कैसे। आंसू रोककर रखने के ये होते हैं नुकसान-

भावनाओं का असंतुलन – आपने अक्सर लोगों को कहते हुए सुना होगा कि रोने से व्यक्ति का मन शांत होता है। इसके अलावा भावनाओं पर काबू में रखने के लिए भी व्यक्ति का रोना जरूरी होता है। लेकिन जो लोग अपने आंसू रोकते हैं उनमें भावनाओं के असंतुलन की समस्या हो सकती है।

तनाव होना – रोने की भावना प्रकट होने पर इमोशन रिस्पॉन्स सक्रिय हो जाता है। जिससे सिग्नल मिलता है कि व्यक्ति रोना चाहता है। ऐसा होने पर शरीर भी खुद को इसी अवस्था के आधीन मान लेता है। इस प्रकिया से Adrenocorticotropic hormone (ACTH) हार्मोन्स रिलीज होने लगते हैं। ये किडनी तक जाकर कोर्टिसॉल स्ट्रेस हार्मोन रिलीज करते हैं। लेकिन जब हम अपने आंसू रोकने की कोशिश करते हैं तो मानसिक तनाव महसूस होने लगता है।

आंखों की समस्या – आंसू की वजह से व्यक्ति को पलकें झपकाने में मदद मिलती हैं। वहीं अगर व्यक्ति अपने आंसू रोकने की कोशिश करता है तो आंखों में नमी की कमी हो सकती है। इसके अलावा ये श्‍लेष्‍म झिल्‍ली के सूखने की समस्या का कारण भी बन सकता है। जिससे आंखों की समस्या में द्रष्टि का धुंधलापन भी शामिल हैं। ऐसे में आंसू रोकने से आंखों की समस्या हो सकती है।

दिल की धड़कन पर बुरा असर – इमोशनल आउटबर्स्ट्स बहुत जरूरी होते हैं। अगर ऐसा नहीं होता तो स्ट्रेस के कारण हमारी दिल की धड़कन पर भी असर पड़ सकता है। हमारे हार्ट से ब्लड बहुत तेज़ी से शरीर के अन्य हिस्सों में पंप होता है। यही कारण है कि आपके हाथ-पैर और गाल कई बार गर्म महसूस होते हैं जब आप रोने वाली होती हैं। ऐसे में दिल की धड़कन बढ़ सकती है।

रोने के फायदे –

  • भावनात्मक रूप से अच्छा महसूस करते हैं।

  • आंखें साफ होंगी और हेल्दी रहेंगी।

  • स्ट्रेस कम महसूस होगा।

  • आंखों से बैक्टीरिया खत्म होगा।

रिपोर्ट – राम गोपाल सैनी

जीवन अनमोल है , इसे आत्महत्या कर नष्ट नहीं करें !

विडियो देखने के लिए – https://www.youtube.com/channel/UCyLYDgEx77MdDrdM8-vq76A

अपने आसपास की खबरों, लेखों और विज्ञापन के लिए संपर्क करें – 9214996258, 7014468512,9929701157.

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *